breaking news

हार्टअटैक के शुरुआती लक्षण

World Heart Day 2018: इन रोगों का कारण सिर्फ तनाव है और इससे मुक्ति पाने के लिए ये लोग धूम्रपान, नींद की दवाएं, शराब का सेवन करते हैं. जो उन्हें दिल की बीमारी की तरफ ले जा रही है.

हार्टअटैक के शुरुआती लक्षण
ANIL ARORAANIL ARORA | Updated: Saturday, September 29, 2018, 04:00

वो दौर गया जब सिर्फ 50 साल की उम्र के ही लोगों को हार्ट अटैक का खतरा होता था. क्योंकि अब 30 के उम्र के लोग भी इस खतरनाक बीमारी की चपेट में आने लगे हैं. जी हां, 30 से 40 उम्र के लोगों को दिल संबंधी बीमारियों होने लगी है. इन रोगों का कारण सिर्फ तनाव है और इससे मुक्ति पाने के लिए ये लोग धूम्रपान, नींद की दवाएं, शराब का सेवन करते हैं. जो उन्हें दिल की बीमारी की तरफ ले जा रही है. आपको ये बीमारी ना हो और आप इससे खुद को बचाने के लिए पहले से ही सतर्क कर सकें, इसीलिए हृदय रोगों के लक्षण को बारे में बालाजी एक्शन मेडिकल इंस्टीट्यूट के सीनियर इंटरवेंशनल कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. अमर सिंघल दिल की बीमारी के शुरुआती लक्षण बता रहे हैं जिन्हें समय से पहले जान गंभीर दिल की बीमारियों से बचा जा सकता है.

1. छाती में बेचैनी महसूस होना
यदि आपकी आर्टरी ब्लॉक है या फिर हार्ट अटैक है तो आपको छाती में दबाव महसूस होगा और दर्द के साथ ही खिंचाव महसूस होगा.

2. मतली, हार्टबर्न और पेट में दर्द होना
दिल संबंधी कोई भी गंभीर समस्या होने से पहले कुछ लोगों को मितली आना, सीने में जलन, पेट में दर्द होना या फिर पाचन संबंधी दिक्कतें आने लगती हैं.

3. हाथ में दर्द होना
कई बार दिल के रोगी को छाती और बाएं कंधे में दर्द की शिकायत होने लगती है. ये दर्द धीरे-धीरे हाथों की तरफ नीचे की ओर जाने लगता है.

4. कई दिनों तक कफ होना
यदि आपको काफी दिनों से खांसी-जुकाम हो रहा है और थूक सफेद या गुलाबी रंग का हो रहा है तो ये हार्ट फेल का एक लक्षण है.

5. सांस लेने में दिक्कतें होना
सांस लेने में दिक्कतें होना या फिर कम सांस आना हार्ट फेल होने का बड़ा लक्षण है.

6. पसीना आना
सामान्य से अधिक पसीना आना खासतौर पर तब जब आप कोई शारीरिक क्रिया नहीं कर रहे तो ये आपके लिए एक चेतावनी हो सकती है.

7. पैरों में सूजन
पैरों, टखनों, तलवों और एंकल्स में सूजन आने का मतलब ये भी हो सकता है कि आपके दिल में रक्त का संचार ठीक से नहीं हो रहा है.

8. चक्कर आना या सिर घूमना
कई बार चक्कर आने, सिर घूमने, बेहोश होने, बहुत थकान होने जैसे लक्षण भी एक चेतावनी हैं.
इससे बचाव पर डॉ. अमर सिंघल ने कहा, "तनाव से बचें, एक्सरसाइज करके भी दिल का ख्याल रखा जा सकता है. इसके लिए आपको नियमित तौर पर एक्सरसाइज करनी होंगी. दिल से संबंधित किसी भी एक्सरसाइज के लिए डॉक्टर की सलाह भी जरूरी है." उन्होंने कहा, "दिल की सलामती के लिए ऑक्सीजन की सप्लाई सही तरीके से हो इसके लिए वॉल्व्स का स्वस्थ और खुला होना बहुत जरूरी है. खड़े होकर की जाने वाली एक्सरसाइज करें, जिससे हृदयतंत्र को लाभ पहुंचे, गहरी सांस लेने से छाती में फैलाव होता है, जिससे दिल को भरपूर ऑक्सीजन मिलती है."

ध्यान दीजिये अगर आप भी सामान रख कर भूल रहे हैं तो कहीं आपको भी तो अल्जाइमर्स नहीं

ध्यान दीजिये अगर आप भी सामान रख कर भूल रहे हैं तो कहीं आपको भी तो अल्जाइमर्स नहीं

घंटो बैठने से शरीर को नुकसान

घंटो बैठने से शरीर को नुकसान

जानिए क्या दूध और केला एक साथ खाना चाहिए

जानिए क्या दूध और केला एक साथ खाना चाहिए

जानिए कैसे मोमो चैलेंज बना बच्चों का जानीदुश्मन

जानिए कैसे मोमो चैलेंज बना बच्चों का जानीदुश्मन

वजन घटाने के लिए रोज करें ये मैडिटेशन

वजन घटाने के लिए रोज करें ये मैडिटेशन

हाथो के ये संकेत हो सकते है खतरनाक

हाथो के ये संकेत हो सकते है खतरनाक

सनफ्लावर के हैं कई फायदे, ऐसे करें अपनी डाइट में शामिल

सनफ्लावर के हैं कई फायदे, ऐसे करें अपनी डाइट में शामिल

वायरल बुखार से छुटकारा पाना है तो करें इन चीजों का सेवन

वायरल बुखार से छुटकारा पाना है तो करें इन चीजों का सेवन