breaking news

ध्यान दीजिये अगर आप भी सामान रख कर भूल रहे हैं तो कहीं आपको भी तो अल्जाइमर्स नहीं

सीमा अक्सर घर के जरूरी कागजात रखकर भूल जाती थी,.....

ध्यान दीजिये अगर आप भी सामान रख कर भूल रहे हैं तो कहीं आपको भी तो अल्जाइमर्स नहीं
ANIL ARORAANIL ARORA | Updated: Friday, September 21, 2018, 01:26

सीमा अक्सर घर के जरूरी कागजात रखकर भूल जाती थी, कभी-कभी तो खाना बनाते हुए उसमें नमक या मिर्च डालना तक याद नहीं रहता, तो कभी दोगुना डाल देती। पति से रोज झगड़ा होने लगा। एक दिन तो हद हो गई, जब वह स्कूल से बच्चों को लेने निकली और रास्ता ही भूल गई। मामले की गंभीरता को समझते हुए जब डॉक्टर के पास पहुंची तो पता चला उसे अल्जाइमर्स नाम की बीमारी है, जिसमें अक्सर चीजें भूलने लगती है।

ध्यान दीजिये अगर आप भी सामान रख कर भूल रहे हैं तो कहीं आपको भी तो अल्जाइमर्स नहीं

तनाव और अकेलापन है मुख्य वजह

अल्जाइमर्स वह मानसिक विकार है, जिसमें दिमाग की कोशिकाएं नष्ट होने लगती हैं। गुड़गांव के पारस हॉस्पिटल के न्यूरोलॉजी कंसल्टेंट डॉ. विजय चंद्रा बताते हैं कि हाइपरटेंशन, अकेलापन और डायबिटीज इसके प्रमुख कारण हैं। फरीदाबाद के क्यूआरजी अस्पताल के न्यूरोलॉजिस्ट डॉ. नजीब उर रहमान ने बताया कि अपने परिवार, दोस्तों से बातें शेयर न करना व मोबाइल में ही डूबे रहने से इसका रिस्क फैक्टर बढ़ जाता है। वहीं, बीके अस्पताल के वरिष्ठ चिकित्सक डॉ. वीरेंद्र यादव ने बताया कि स्मोकिंग और शराब की लत, खानपान की गलत आदत, संतुलित आहार व पोषक तत्वों की कमी भी इसकी कुछ वजहें हो सकती है। एशियन अस्पताल से न्यूरोलॉजिस्ट डॉ. कुनाल ने बताया कि प्रदूषण भी इस बीमारी का एक कारण हो सकता है। प्रदूषण दिमागी क्षमता को कम करने का काम करता है।

गाजियाबाद के कोलंबिया एशिया अस्पताल के कंसल्टेंट न्यूरोलॉजिस्ट डॉ. नीरज अग्रवाल कहते हैं कि हाई ब्लड प्रेशर हमारे मस्तिष्क की छोटी रक्त नलिकाओं को डैमेज कर सकता है, इसका असर मस्तिष्क के उस हिस्से पर पड़ता है जो सोच-विचार करने और चीजों को याद रखने के लिए जिम्मेदार होता है।

ध्यान दीजिये अगर आप भी सामान रख कर भूल रहे हैं तो कहीं आपको भी तो अल्जाइमर्स नहीं

पहचान होते ही डॉक्टर से लें सलाह

इसकी शुरुआत में मरीज घटनाओं, परिवार के सदस्यों, सहकर्मियों व दोस्तों के नाम भूलने लगता है। सामान रखकर भूल जाता है। कपड़े पहनने, खाना खाने, बोलने, तर्क करने और पढ़ने-लिखने की क्षमता प्रभावित होने लगती है। बैंकिंग से जुड़े काम, लाइट बंद करना, गाड़ी चलाने जैसे निर्णय लेने वाले काम करना मुश्किल हो जाता है। व्यवहार में चिंता, चिड़चिड़ापन बढ़ जाता है।
ध्यान दीजिये अगर आप भी सामान रख कर भूल रहे हैं तो कहीं आपको भी तो अल्जाइमर्स नहीं

दिमागी और शारीरिक कसरत ही बचाव

अल्जाइमर्स का कोई इलाज नहीं है, क्योंकि कोशिकाओं का क्षय रोका नहीं जा सकता है। विशेषज्ञों के अनुसार अच्छा लाइफस्टाइल, व्यायाम, योग, संतुलित-पौष्टिक भोजन और अच्छी सेहत इससे बचाव में काफी कारगर हैं। नियमित व्यायाम सेहत और मूड दोनों को सही रखेगा। फलों, सब्जियों और ओमेगा-3 फैटी एसिड वाले आहार जैसे कि मछली का सेवन करें। दिमागी कसरत व खेलों में हिस्सा लें। नए शौक अपनाएं। मोबाइल व गैजेट्स में न डूबे रहें। कैफीन, अल्कोहल, स्मोकिंग आदि से बचें। नींद पूरी करें।

हार्टअटैक के शुरुआती लक्षण

हार्टअटैक के शुरुआती लक्षण

घंटो बैठने से शरीर को नुकसान

घंटो बैठने से शरीर को नुकसान

जानिए क्या दूध और केला एक साथ खाना चाहिए

जानिए क्या दूध और केला एक साथ खाना चाहिए

जानिए कैसे मोमो चैलेंज बना बच्चों का जानीदुश्मन

जानिए कैसे मोमो चैलेंज बना बच्चों का जानीदुश्मन

वजन घटाने के लिए रोज करें ये मैडिटेशन

वजन घटाने के लिए रोज करें ये मैडिटेशन

हाथो के ये संकेत हो सकते है खतरनाक

हाथो के ये संकेत हो सकते है खतरनाक

सनफ्लावर के हैं कई फायदे, ऐसे करें अपनी डाइट में शामिल

सनफ्लावर के हैं कई फायदे, ऐसे करें अपनी डाइट में शामिल

वायरल बुखार से छुटकारा पाना है तो करें इन चीजों का सेवन

वायरल बुखार से छुटकारा पाना है तो करें इन चीजों का सेवन